घुटनों में दर्द का घरेलू उपचार व योगासन | Knees Pain Hindi

घुटनों में दर्द: घुटनों में दर्द घुटनो का दर्द होना एक आम समस्या है। बढ़ती उम्र के साथ यह यह दर्द और भी बढ़ जाता है। जिसके कारण से चलने फिरने और बैठने में बहुत दिक्कत होने लगती है। साधरणतः यह समस्या आम हो जाती है और गंभीर रूप ले लेती है।

इसके इलाज के लिए आपको क्या कारना चाहिए आइये जानते है।

क्यो होता है घुटनों में दर्द

घुटनों में दर्द क्यो होने लगता है सबसे पहले यह जानना जरूरी होता है। दरसल जब हम अपनी जांघो(थाई) और पैरों का ठीक से प्रयोग नही करते है तब यह समस्या जन्म लेती है। इस बात को इस उदाहरण से समझे ।

जैसे एक पेड़ अपनी जड़ों के कारण खड़ा होता है। ठीक इसी प्रकार हमारे घुटनों की जड़े हमारी जांघ (थाई ) है। यानी घुटनों से ऊपर वाला भाग। हमारी जांघ जितनी मजबूत होती उतना ही हमारा घुटना सुरक्षित होगा।

लेकिन हम अपनी जांघो का प्रयोग बहुत कम करते है। यहाँ तक कि चलते हुए भी जांघो का बहुत कम प्रयोग होता है । उठने बैठने का तरीका सब आधुनिक हो गया है। जिसके फलस्वरूप घुटनों में दर्द (नी पैन ) की समस्या जन्म लेती है।

घुटनों के दर्द का घरेलू उपाय

  • इस दर्द से ग्रसित लोगो को और बूढ़े लोगो को सरसो के तेल से थाई मसल्स के साथ पूरे पैर की मालिस करनी चाहिए।
  • घुटनों में दर्द के घरेलू उपचार के लिए आपको योग शुरू करना चाहिए। योग के माध्यम से आप जल्दी से जल्दी ठीक हो सकते है।
  • बुजुर्ग लोग छोटी छोटी शारीरिक क्रियाएं करे और धीरे धिरे अभ्यास को बढ़ाये।

घुटने के दर्द के लिए योगासन – Yoga for Knee Pain Hindi

  • दंडासन- हाथों को अपने नितंब के बगल में रखे, उंसके बाद पैरो को सीधे करके बैठे। दोनों पैरों को आपस मे मिलाकर रखे और अंगुलियों को सीधे तानकर रखे और फिर अपने पिंडली (calf muscles) , घुटने (nee), जांघ को सिकोड़े । थोड़ी देर ऐसे ही बैठकर रहे।
  • गुल्फ नमन- अपने पंजो एक दूसरे से थोड़ा अलग रखते हुए एक एक पैर से अपने पंजो को सांस छोड़ते हुए आगे की तरफ झुकाए । ओर सांस लेते हुए पीछे की और लाये।
  • गुल्फ चक्र – अपनी एड़ी को जमीन पर रखते हुए अपने पंजो को एक एक करके गोल गोल घुमाएँ। पंजो को ऊपर लाते हुए सांस ले और नीचे ले जाते हुए सांस छोड़ें।
  • जानु नमन- अपने नितंब ओर पैरो के सहारे बैठे रहे। अपनी दाहिनी जांघ को मोड़े ओर दाहिनी जांघ के नीचे अपने हाथों को फंसा ले। सांस लेते हुए अपने दाहिने पैर को ऊपर ले जाएं। 5 से दस बार ऐसा करे और फिर दूसरे पैर से भी ऐसे ही करे।
  • तितली आसन- नीचे बैठ जाये और अपने घुटनों को मोड़े ओर पैरो के तलवो को एक साथ मिला दे । जितना संभव हो एड़ियों को शरीर के पास लाये।

जांघ की मांसपेशियों को ढीला छोड़ दे। दोनों हाथों से पंजो को कसकर पकड़े ओर फिर घुटनो को नीचे और ऊपर लेकर जाये। नीचे ले जाते समय घुटनो को जमीन से लगाने का प्रयास करे। लगभग 30 से 50 बार घुटनो को ऊपर नीचे करे।

Leave a Comment

error: Content is protected !!