लोग क्या कहेंगे

सर्दियों का समय था। खूब ठंड पड़ रही थी। में एक योग स्कूल में विदेश  से भारत आये लोगो को पढ़ा रहा था। यहाँ पर विदेशी योग टीचर ट्रेनिंग पढ़ने आया करते । रोज की तरह में अपनी कक्षा समाप्त करने के बाद बाहर आकर धूप का आनंद लेता। और अन्य  टीचर भी अपनी कक्षा … Read more

गृहस्थ आश्रम का महत्व बताया कबीर दास जी ने।

कबीर जी का इतिहास तो सुना होगा उसके घर जितने लोग आते उन्हें कबीर जी बाहर से ही कहते  “खाना खा कर जाना।” घर में कुछ भी ना हो पर फिर भी वे बाहर से बैठे-बैठे कह देते थे। घर में उनकी पत्नी कमाल पर मुसीबत का पहाड़ टूट पड़ता था। एक दिन कमाल ने … Read more

स्वर्ग ओर नर्क गये लोगो के मद्य लड़ाई

एक व्यक्ति ने मुझे कहा कि स्वर्ग और नर्क बहुत दूर नहीं है पास पास ही हैं । दोनों के बीच केवल एक ईट की दीवार है। शायद वह जाकर आया होगा। दायीं और स्वर्ग और भाई और नर्क। स्वर्ग में अप्सराएं नाचती है, सुरापान, खाओ पियो और मौज मनाओ। नर्क में बेचारे को पीड़ा … Read more

error: Content is protected !!