पंचकोश क्या है और किसे कहते है

पंचकोश क्या है आध्यात्मिक विज्ञान के अनुसार मानव शरीर 5 आयामों (शरीरों) कोशो से मिलकर बना होता है जो मानव शरीर के स्थूल से सूक्ष्म आयामों के लिए उत्तरदाई है।  इन्हें ही पंच कोष कहते है।पंचकोश पांच प्रकार के होते हैं1 अन्नमय कोश2 मनोमय कोश3 प्राणमय कोश4 विज्ञानमय कोश5 आनंदमय कोश अन्नमय कोश क्या है … Read more

होली भाई दूज त्यौहार कैसे मनाया जाता है, शुभ मुहूर्त क्या है, कैसे बहन भाई को तिलक करें ?

होली भाई दूज क्या है भाई और बहन के पवित्र रिश्ते का यह त्योहार होली के ठीक अगले दिन मनाया जाता है इस बार यह होली भाई दूज का त्यौहार 30 मार्च को मनाया जाएगा । होली भाई दूज का शुभ मुहूर्त क्या है     होली भाई दूज का शुभ मुहूर्त मार्च 29 को रात्रि के … Read more

पूरी तरह से झूठी खबर है होली की रात फ़िल्मी अभिनेता अजय देवगन की पिटाई

होली की रात को राजधानी दिल्ली में एक पब के बाहर पार्किंग के नाम पर हुए मामूली से विवाद को फिल्मी अभिनेता अजय देवगन से जोड़ दिया गया। ओर इंटरनेट पर भी यह खबर देखते ही देखते फैल गयी। ओर कहा जा यह रहा था कि उनकी कुछ लोगो द्वारा पिटाई कर दी गई। लेकिन … Read more

108 गायत्री मंत्र जाप के चमत्कारी लाभ | Benefits of Chanting Gayatri Mantra hindi

गायत्री मंत्र     ॐ भूर्भुवः स्व: तत्सवितुर्वरेण्यं भर्गो देवस्य धीमहि धियो यो नः प्रचोदयात् । गायत्री मंत्र का अर्थ हम उस ईश्वर आराध्य का ध्यान स्मरण करते हैं जो महत्वपूर्ण आध्यात्मिक ऊर्जा (प्राण) का अवतार करने वाला, दुख का नाश करनेवाला, खुशी को मूर्त रूप देनें वाला, वह हमें प्रबुद्ध व प्रकाशित (रोशन) करें। गायत्री मंत्र … Read more

पतंजलि योग सूत्र के अनुसार आकाश का स्वरूप क्या है ?

पंचभूत किसे कहते है – पृथ्वी जल अग्नि वायु और आकाश यह पंचभूत कहते हैं। इनमें से हर एक की पांच अवस्थाएं होती। अर्थात अपना अपना रूप होता है। पंचभूत का स्वरूप – इन पांच भूतो के जो लक्षण है वह इनकी स्वरूप अवस्था कहलाती है जैसे पृथ्वी की मूर्ति ओर गंध, जल का गीलापन … Read more

वातसार

1. (क) वातसार अन्तधौति विधि – किसी सुविधाजनक आसन में  बैठकर, मुंह खोलकर कीवे की चोंच जैसा आकार बनाइये । नाक से श्वास छोडिये॰, मुँह से वायु को धीरे- धीरे पीकर उदर में भरने का प्रयत्न कीजिए। यह काकी मुद्रा कहलाती । यह क्रिया कठिन नहीं है, परन्तु इसमें अभ्यास की जरूरत है । वायु … Read more

आसन का अर्थ, महत्व, एवं उद्देश्य

आसन का अर्थ आसन का पहला अर्थ बैठने का स्थान से है और आसन से दूसरा अभिप्राय शरीर की अवस्था से है। बैठने से अभिप्राय दरी, मृगछाल , चटाई आदि से है अर्थात जिसके ऊपर हम बैठते हैं। आसन का दूसरे अर्थ से अभिप्राय सुख पूर्वक शांति पूर्वक एवं स्थिर पूर्वक बैठने से है अर्थात … Read more

आहार क्या है और संतुलित आहार का हमारे जीवन में क्या महत्व है ?

आहार क्या है आहार संभवो देह: आहार से ही संपूर्ण शरीर का निर्माण होता है और आहार से ही यह शरीर चलता है। आहार का हमारे जीवन में विशेष महत्व है बिना आहार के व्यक्ति के जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती। शास्त्रों में शरीर को मंदिर की संज्ञा दी गई है और इस … Read more

विभिन्न रोगो में गिलोय का उपयोग और फायदे | Giloy Uses and Benefits in Hindi

गिलोय क्या है? | What is giloy Hindi? गिलोय एक प्रकार की प्राकृतिक औषधि है आयुर्वेद शास्त्र में ऐसे कई प्रकार के नामों से संबोधित जाता है अमृता, गुडुची, चक्रांगी आदि । यह अमृत के समान गुणकारी होता है इसीलिए इसको अमृता कहा गया है। यह अधिकतर घने जंगलों में और चट्टानों में पाई जाती … Read more

फूलदेई त्यौहार क्यों और कैसे मनाया जाता है? | Phool dei Festival in Hindi

फूलदेई उत्तराखंड का एक लोक पर्व है जो कि प्रकृति के प्रति हमारे प्रेम को दर्शाता है और यह प्रकृति का आभार प्रकट करने वाला लोक पर्व है। बच्चों में उल्लास का प्रतीक यह त्यौहार उत्तराखंड में चैत् माह के प्रारंभ में ही बसंत ऋतु के आगमन में मनाया जाता है, हिंदू कैलेंडर के अनुसार … Read more

error: Content is protected !!