सुकरात के अनमोल विचार | Thoughts of Socrates in Hindi

सुकरात:- सुकरात एक महान व्यक्ति थे जो बचपन से ही अलग ही मिजाज के व्यक्ति थे । वह एक गरीब घर से तालुक रखते थे । लेकिन उनके विचार बिलकुल अलग थे जिसके कारण लोग सुकरात को काफी पंसद करते थे । जब वह कुछ बोलते थे तो उन्हे सुनने के लिये लोगो की भीड इकट्ठा हो जाया करती थी। यहां आप उनके कहे कुछ विचारो Thoughts of Socrates in Hindi को पढ सकते थे।

नाम – सुकरात
जन्म –  470/469 ईसा पूर्व
मृत्यू – 399 ईसा पूर्व
राष्ट्रीयता –  यूनानी
जीवनी –

सुकरात के अनमोल विचार | Socrates Quotes in Hindi

Thought In Hindi -1: एक निष्कपट आदमी हमेशा एक बालक होता है ।

 (Socrates सुकरात)

Thought In Hindi -2: प्रत्येक आदमी की आत्मा अमर होती है, परन्तु वह व्यक्ति जो पवित्र होते है उनकी आत्मा अमर तथा दैवी स्वरुप होती है ।

(Socrates सुकरात)

Thought In Hindi -3: जैसे कि मेरा बारे में, मै केवल इतना जानता हूँ कि मै कुछ नहीं जानता ।

(Socrates सुकरात)

Thought In Hindi -4: ब्रहमचर्य या शादी , एक मनुश्य चाहे वह कोई भी रास्ता चुनेगा । अंत में उसे पछताना ही पडेगा ।

(Socrates सुकरात)

Thought In Hindi -5: दोस्ती करने में धीमी गति रखिये और जब कर ली तो इसको निभाइये तथा इसपर स्थिर रहिये ।

(Socrates सुकरात)

Thought In Hindi -6: मौत शायद मनुश्य के लिये सबसे बडा वरदान है ।

(Socrates सुकरात)

Thought In Hindi -7: निस्संदेह विवाह किजिये , यदि एक अच्छी पत्नी मिलती है तो आप खुश हो जाओगे , यदि एक खराब पत्नी मिलती है तो  आप एक दार्शनिक बन जाओगे ।

(Socrates सुकरात)

Thought In Hindi -8: सुदरता एक थोडी देर का अत्याचार है ।

(Socrates सुकरात)

Thought In Hindi -9: वहां जहां श्रद्धा है वहां डर है , लेकिन जहां श्रद्धा नही है वहां हर जगह डर है । क्योकि डर श्रद्धा से ज्यादा व्यापक विस्तार है ।

(Socrates सुकरात)

Thought In Hindi -10: इस संसार में सम्मान के साथ जीने का सबसे बेहतर तरीका वो है कि हम वह बने जो हम बनने का झूठा दिखावा कर रहे है ।

(Socrates सुकरात)

Thought In Hindi -11: हमारी प्रार्थना स्पष्ट रुप में केवल आशीर्वाद के लिये होनी चाहिये , ईश्वर जानते है कि क्या हमारे लिये बेहतर है ।

(Socrates सुकरात)

Thoughts of Socrates in Hindi

Thought In Hindi -12: जीवन नही एक अच्छे जीवन को अहमियद देनी चाहिये ।

Thought In Hindi -13: गहरी इच्छाओ से ज्यादातर घातक नफरत पैदा होती है ।

(Socrates सुकरात)

Thought In Hindi -14: गलत शब्द केवल स्वंय में बुरे नही है बल्कि तुम्हारी आत्मा को भी बुराई से ग्रसित कर देते है ।

(Socrates सुकरात)

Thought In Hindi -15: अन्य महान लोगो के लेखन से अपना समय स्वयं को सुधारने में लगाइये , ताकि आप आसानी से उन बातो को जान पाये कि दूसरो ने क्या कठिन परिश्रम किया है ।

(Socrates सुकरात)

Thought In Hindi -16: वह सबसे अमीर है जो कम से कम के साथ संतुष्ट है , क्योकि संतुष्टि कुदरत का खजाना है ।

(Socrates सुकरात)

Thought In Hindi -17: केवल जीना मायने नहीं रखता बल्कि संच्चाई के साथ जीना महत्व रखता है ।

(Socrates सुकरात)

Thought In Hindi -18: में सभी जीवित मनुष्यो मे सबसे अधिक बुद्धिमान हूँ , क्योकि मुझे एक बात पता है कि मै कुछ नही जानता हूं ।

(Socrates सुकरात)

Thought In Hindi -19: बेकार लोग केवल खाने पीने के लिये जीते है और मूल्यवान व्यक्ति मात्र जीने के लिये खाते और पीते है ।

(Socrates सुकरात)

अवश्य पढ़े – स्वामी विवेकानंद के अनमोल विचार

Leave a Comment

error: Content is protected !!