चित वृत्ति निरोध के उपाय | Chit Vriti Nirodh Ke Upay

चित्त की वृत्तियों के निरोध के लिए महर्षि पतंजलि के द्वारा 2 उपाय बताए गए हैं वह तो उपाय अभ्यास और वैराग्य है। चित्त की वृत्तियों का प्रवाह प्रारब्ध या परंपरागत संस्कारों के कारण से लोगों की ओर निरंतर प्रवाहित है, उस प्रवाह को रोकने के लिए महर्षि पतंजलि ने वैराग्य का मार्ग बताया है … Read more

error: Content is protected !!