हिंदी मुहावरे और उनका अर्थ

मुहावरा अर्थ
श्री गणेश करनाशुभारंभ करना या शुरू करना
चार चांद लगानाप्रतिष्ठा बढ़ाना 
आंखें लाल करनाक्रोधित होकर देखना
लोहे के चने चबानाकठिन कार्य करना
जमीन आसमान एक करनाबहुत प्रयत्न करना
मांस नोचनातंग करना
खून खोलनागुस्सा चढ़ना 
पानी पानी होना    शर्मिंदा होना
पानी पानी करना   लज्जित करना 
पानी न मांगना            तत्काल मर जाना
नाक कटवाना           बदनाम करना
कोल्हू का बैल                           अधिक परिश्रमी
दांतो तले उंगली दबाना    दंग रह जाना
पगड़ी उतारना                 इज्जत उतारना
पॉकेट गर्म करना             घूस देना
नमक मिर्च लगाना            बढ़ा – चढ़ाकर बोलना
अंगूठा चूमना                चापलूसी करना
भीगी बिल्ली बनना           लाचार होना या दिखना
भाड़े का टट्टू                    गया गुजरा
गागर में सागर भरना            अधिक बात थोड़े में कहना
4 दिन की चांदनी                 कुछ दिनों का सुख:
नाक में दम करना                    अधिक परेशान करना
एक आँख से देखना  समान भाव रखना 
 ईद का चांद होनाअधिक दिनों के बाद दिखाई देना
आग में घी डालना      झगड़ा करवाना
अक्ल का दुश्मन     मूर्ख
पांच उंगलियों का घी में होना सभी प्रकार से लाभ प्राप्त होना
कलेजा ठंडा होनासंतोष होना
अपना उल्लू सीधा करना बेवकूफ बनाकर काम निकालना
कान काटना  पराजित करना
कान भरना     निंदा या चुगली करना 
रफू चक्कर होना      डर के भाग जाना
कलेजा कांपना      डर लगना
मुंह में पानी भर आनाललचाना 
पानी सर से ऊपर उठना  सहनशीलता खत्म होना

Leave a Comment

error: Content is protected !!