बसंत आया है

बसंत आया है ,
बसंत आया है ।

धरा पर है हरियाली
पेड़ों की शाखों पर उगे रंग बिरंगे फूल, जीवन में खुशहाली लाया है ,
बसंत आया है ,
बसंत आया है ।

कोयल की कूक ,
चिड़ियों की चहक ,
फूलों की महक,
प्रकृति में नव अंकुर उग आया है
बसंत आया है ,
बसंत आया है।
बसंत आया है

बसंत आया है ,
बसंत आया है ।

धरा पर है हरियाली,
पेड़ों की शाखों पर उगे रंग बिरंगे फूल, जीवन में खुशहाली लाया है ,।

बसंत आया है ,
बसंत आया है ।

कोयल की कूक ,
चिड़ियों की चहक ,
फूलों की महक,
प्रकृति में नव अंकुर उग आया है
बसंत आया है ,

बसंत आया है।

Leave a Comment

error: Content is protected !!