योग के अभ्यास से होने वाले 3 मुख्य लाभ

योग हमें शारीरिक, मानसिक और आध्यात्मिक रूप में लाभ देता है। योग हमारी अमूल्य धरोहर है । जिसके अनेको लाभ है । मनुष्य के लिए योग और इसके लाभ किसी वरदान से कम नहीं है। योग के आठ अंग है । जो हमें योग के अनेको लाभ से परिचित करवाते है।

शारीरिक लाभ

योग में हमारे शरीर को स्वस्थ रखने के लिए आसन बताए गए हैं। जिससे हमारा शरीर पुष्ट होता है और हमारी मांसपेशियां मजबूत होती है। आसनों का प्रभाव हमारे शरीर पर बड़े ही वैज्ञानिक तरीके से होता है । इन आसनों का निर्माण हमारे ऋषि-मुनियों ने ध्यान की गहन अवस्था में जाकर किया है। प्रत्येक आसन का शरीर पर बड़ा ही चमत्कारिक प्रभाव होता है।

जो हमें शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ बनाते हैं। ओर यह आसन हमे हर तरह के रोग से बाचने में कारगर सिद्ध होते है। फलस्वरूप हमें स्वास्थ्य लाभ होता है । और हम एक स्वस्थ जीवन जीते है।

प्राणायाम भी योग का अंग है। प्राणायाम के माध्यम से भी हमें अनेक लाभ होते हैं, इससे हमारे शरीर मे प्राण ऊर्जा का संचार होता है । यह हमारे शरीर में आये असंतुलन को यह संतुलित करता है और रोगों के ठीक करने में हमारी सहायता करता है। इससे हमारे शरीर में शारीरिक और मानसिक ऊर्जा में वृद्धि होती है।

मानसिक लाभ

योग करने से हमारे शरीर में मानसिक ऊर्जा का स्तर बढ़ने लगता है। नकारात्मक ऊर्जा कम होने लगती है। काम  करने के लिए मानसिक ऊर्जा का संचार होता है। निरन्तर आसन, प्राणयाम व ध्यान करने से शरीर में बनी नकारात्मकता गांठे समाप्त होने लगती है, और यक्ति की मानसिक ऊर्जा और शक्तियों में बढ़ोतरी होने लगती है । उसे शरीर में हल्कापन महसूस होने लगता है।

आध्यात्मिक लाभ

आध्यात्मिक लाभ की बात करें, तो योग से हमें अथाह ऊर्जा मिलने लगती है। बिना आध्यात्मिक ऊर्जा के जीवन में शांति संभव नही है। योग का लक्ष्य ही आद्यात्मिक है इसलिए आसन, प्राणायाम व ध्यान  करने से मन को शांति मिलती है । और मनुष्य का आध्यात्मिक विकास होने लगता है।

आसान प्राणयाम ओर ध्यान, यह सभी योग के अंग है । यदि कोई यक्ति निरंतर इनका आभ्यस करता है । तो वह परम शांति को प्राप्त होता है और यही योग का प्रमुख उद्देश्य भी है । इस प्रकार मनुष्य को योग के अनेकों लाभ प्राप्त होते है।

Leave a Comment

error: Content is protected !!