लक्ष्य होना क्यों आवश्यक है | Why Should be Aim in life Hindi

Aim of life in Hindiजीवन में लक्ष्य होना जरुरी है बिना लक्ष्य के मनुष्य का जीवन व्यर्थ ही चला जाता है। संसार में ज्यादातर लोग बिना लक्ष्य तय किये ही चलते रहते है। वह कभी एक कदम रुककर यह भी नही सोचते की हमें जाना कहा है। हमारी मंजिल कहां है। हमे बनना क्या है। जीवन की भाग दौड में वह एक दूसरे को देखा देखी चलते चले जाते है। यदि हम कुछ पा भी लेते है तो संतुष्ट नही होते है और एक के बाद दूसरे काम में हाथ आजमाते रहते है। जिससे हमारे अंतर मन को शांति नही मिलती। इसलिये एक निश्चित लक्ष्य की और बढना आवश्यक होता है। जो सोच समझकर लिया गया निर्णय हो ।

हम किसी भी गाडी या ट्रेन में  बैठने से पहले अवश्य सौचते है कि हमें जाना कहा है। हमे कौन सी गाडी या ट्रेन में बैठना है। कहां उतरना है। कितने पैसे किराये के लिये चाहिये। वहां का मौसम कैसा होगा। वहां कहां रहना है। कैसे खाना है इत्यादि।

तो फिर जीवन के सफर को बिना सोचे समझे हम कैसे तय कर सकते है। क्यो एक मिनट रुककर हम अपने जीवन के लिये कोई लक्ष्य तय कर लेते है। फिर जीवन जीने का आंनद भी बढ जायेगा और लक्ष्य को हासिल करने का उत्साह।

ज्यादातर लोग कहते है कि में परेशान हूं। बहुत सारी समस्यायें है। जब उन्ही से यह पूछा जाता है कि वह चाहते क्या है वह खुद ही इस समस्या में उलझ जाते है कि उन्हे चाहिये क्या। इसका सीधा सा मतलब है कि किसी भी काम को करने का आपका इरादा मजबूत नही है।  आपका लक्ष्य निर्धारित नही है। जिस दिन आप अपना कोई लक्ष्य बना देगे मुझे नही लगता उसके बाद संसार में किसी भी लक्ष्य को हासिल करना आपके लिये कठिन है। बस आपका इरादा पक्का होना चाहिये। मंजिल खुद व खुद मिल जाएगी।

अवश्य पढ़े –

अवश्य पढेे स्वामी विवेकानंद के अनमोल विचार

Leave a Comment

error: Content is protected !!